PMJAY आयुष्मान भारत योजना 2022 | (ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन ) Ayushman Bharat Yojana

आयुष्मान भारत योजना क्या है ?

आयुष्मान भारत योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक ऐसी योजना है जो देश के गरीब तथा पिछड़े परिवारों को स्वास्थ्य संबंधी विकट समस्याओं को समाप्त करने के लिए भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 14 अप्रैल 2018 को प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की गई |

इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी ने 14 अप्रैल अर्थात संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी की जयंती के दिन छत्तीसगढ़ राज्य के बीजापुर जिले से घोषणा की गई |

इस योजना के तहत भारत सरकार की ओर से गरीब परिवारों को अपने इलाज के लिए ₹5,00,000 की स्वास्थ्य बीमा की सहायता की जाती है।

आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य :

इस योजना का मुख्य उद्देश्य हमारे देश के गरीब परिवारों को होने वाली बीमारी के कारण जो भयंकर आर्थिक तंगी आती है उससे उनका परिवार पूरी तरह बर्बादी के कगार पर आकर खड़ा हो जाता है और समय पर इलाज ना हो पाने के कारण परिवारों के व्यक्ति की असमय मृत्यु हो जाती है |

इसी आर्थिक समस्याओं को कम करने तथा मृत्यु दर में कमी लाने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गई आयुष्मान भारत योजना के तहत 500000 रूपे तक का स्वास्थ्य बीमा की सहायता प्रदान करना ताकि पीड़ित व्यक्ति को अस्पताल में मुफ्त इलाज मिल सके |

आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना की विशेषताएं :

  • इस योजना के कई ऐसे लाभ हैं जो अब जनता को आसानी से मिलेगे।
  • इस योजना के अंतर्गत देश के 10 करोड़ परिवारों को |
  • इसका लाभ मिलेगा ताकि वह अपना इलाज आसानी से करा सकें।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 5 लाख रुपै का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत लगभग 1350 बीमारियों को शामिल किया गया है |
  • इसके तहत दवाई की लागत चिकित्सा आदि का खर्चा सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा |
  • इस योजना के लाभ के लिए पीड़ित व्यक्ति को किसी भी प्रकार पैसे देने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि सारा खर्च आयुष्मान भारत योजना के तहत भारत सरकार करेगी |
  • आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है |
  • इसके तहत आवेदक सरकारी हस्पताल के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी फ्री में इलाज करा सकेगा।

आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्रता :

योजना मुख्य रूप से देश के उन परिवारों के लिए है जो गरीबी रेखा के अंतर्गत आते हैं अर्थात जो स्वयं इलाज कराने के लायक नहीं है जैसे मजदूर भिखारी भार ढोने वाले, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, कुली, राजमिस्त्री, प्लंबर, सिक्योरिटी गार्ड, घरेलू काम करने वाले, कूड़ा साफ करने वाले, रेहड़ी पटरी दुकानदार, सड़क पर काम करने वाले, मोची, टेलर, रिक्शा चालक आदि प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के लाभ के लिए पात्र हैं |

यदि आप यह जानना चाहते हैं कि आप इस योजना के पात्र हैं कि नहीं इसके लिए आपको अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आप को जांच करनी होगी कि आप इसके पात्र है कि नहीं |

आयुष्मान भारत योजना में अपना नाम देखें :

  • इस योजना में अपना नाम देखने के लिए सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट pmjay. gov. in पर जाना होगा |
  • उसके बाद दाएं तरफ फाइंड हॉस्पिटल के विकल्प पर क्लिक करना होगा |
  • उसके बाद आप अपने जिले का चयन करेंगे जिस जिले से आप आते हैं |
  • उसके बाद अपने अनुसार हॉस्पिटल का चयन करें |
  • उसके बाद आप स्पेशलिटी के विकल्प पर क्लिक करें |
  • उसके बाद आप आपके पास एक कैप्चा कोड भरने का विकल्प आएगा |
  • उसके बाद आपको लिस्ट दिख जाएगी |

आयुष्मान भारत योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज :

इस योजना के लाभ के लिए आपके पास इन दस्तावेजों का होना आवश्यक है |

  • परिवार के सभी सदस्यों का
  • आधार कार्ड |
  • राशन कार्ड |
  • पत्ते का सबूत अर्थात निवास प्रमाण पत्र |
  • एक मोबाइल नंबर ताकि ओटीपी आ सके |

आयुष्मान भारत योजना के लाभ के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे और कहां करें ?

इस योजना के लाभ के लिए आपको रजिस्ट्रेशन करवाना होगा उसकी पूरी प्रक्रिया आपको नीचे विस्तार से बताई गई है |

सबसे पहले आप अपने नजदीकी csc (अटल सेवा केंद्र या जन सेवा केंद्र) जाकर वहां आप अपने सभी दस्तावेजों की फोटो कॉपी जमा करें इसके बाद सभी फोटो कॉपियों की जांच करने के बाद ही csc द्वारा आप का पंजीकरण किया जाएगा |

उसके बाद आपको 10 से 15 दिनों के बाद आयुष्मान स्वास्थ्य योजना के पंजीकरण के अनुसार सेवा केंद्र द्वारा गोल्डन कार्ड मिल जाएगा यह कार्ड आपको तभी मिलेगा जब आप इस योजना के योग्य होंगे तथा आप अपना आवेदन सही से करे होंगे इसलिए आवेदन सही सही करें अन्यथा निरस्त हो जाएगा गोल्डन कार्ड मिलने के बाद आप आसानी से आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठा सकते हैं।

आरोग्य मंथन 3. 0 क्या है ?

केंद्र सरकार की ओर से केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडवीया ने आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तीसरा साल पूरे होने पर वर्षगांठ का आयोजन किया यह आयोजन 23 सितंबर 2021 को किया गया उसका नाम आरोग्यमंत्र 3.0 के रूप में रखा गया इसी वर्षगांठ को आयुष्मान भारत दिवस के रूप में भी मनाया जाता है |

आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक लगभग 26 400 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जा चुकी है इस योजना के तहत 24000 अस्पतालों को पैनल किया गया है जो कि सरकारी एवं निजी क्षेत्र के भी हैं इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी का उपचार करवा सकता है।

और पढ़े :

Leave a Comment