(NDHM) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन 2022 | National Digital Health mission

(NDHM) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन क्या है ?

भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने देश भर में बुनियादी स्वास्थ्य व्यवस्था को एकीकृत करने के उद्देश्य से ( NDHM ) राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की शुरुआत की।

इसका शुभारंभ स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र दामोदर मोदी जी ने राष्ट्र के नाम अपने सम्बोधन मे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की शुरूआत की ।

यह एक डिजिटल स्वास्थ्य पारितंत्र है , जिसके अन्तर्गत देश के प्रत्येक नागरिकों को एक नवीन स्वास्थ्य पहचान पत्र मुहैया कराया जाएगा । जिसमें व्यक्ति के सभी डॉक्टर एवं नैदानिक परीक्षण एवं तय दवाओं अंकीकृत स्वास्थ्य रिकॉर्ड मौजूद रहेगा ।

(NDHM) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन योजना का उद्देश्य :

इस योजना मुख्य लक्ष्य है सभी स्तरों पर स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं को सरल , सुलभता एवं सुनिश्चित करना जिससे राष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य के संबंध में पारदर्शिता , दक्षता एवं जिससे प्रभावशीलता आएगी।

जिससे बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को ज्यादा परेशानी का सामना ना करना पड़े उसे इधर – उधर भटकना ना पड़े इलाज के लिए मरीज अभी तक कितने टेस्ट कराए है किस डॉक्टर ने कौन सी दवा चलाई है तथा डॉक्टर द्वारा की जाने वाली रिपोर्ट मे किया लिखा हुआ है इन सबकी पूरी जानकारी एकत्रित रहेगी |

यह रिकॉर्ड उस व्यक्ति तक ही सीमित रहेगी जिसे मरीज चाहे देखने दे या देखने की अनुमति दे तभी दूसरा व्यक्ति या दूसरा डॉक्टर भी देख सकेगा उस कार्ड को अन्यथा नही इसके साथ ही नागरिकों को यह डिजिटल स्वास्थ्य योजना के लाभ के लिए बुनियादी ढांचे का भी निर्माण किया जाएगा

ndhm

(NDHM) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन योजना के लाभार्थी :

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन ( NDAM ) देश के हर नागरिकों के लिए है ताकि किसी भी नागरिकों को स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की कोई समस्या ना हो ।

वह देश के किसी कोने में जाकर इस कार्ड के माध्यम से अपनी इलाज करा सकें । पहले इस योजना को छह केंद्र शासित बाद प्रदेशों में शुरू किया गया था बाद में इस योजना को पूरे देश भर में शुरू किया गया है ।

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के माध्यम से मरीज के साथ साथ डॉक्टर भी इस आईडी से जुड़ा हुआ रहेगा । इसमे मरीज के सभी पुराने रिकॉर्ड भी रहेंगे इसमें डॉ नर्स पैरामेडिक जैसे साथियों का भी रजिस्ट्रेशन होगा तथा देश के अस्पताल क्लीनिंक , लैब्स , दवा की दुकान इन सबका रजिस्ट्रेशन करके आईडी कॉर्ड मे मौजूद रहेगा |

कैसे बनेगा Health id Card ?

जैसा कि भारत सरकार ने कहा हर व्यक्ति के लिए एक Health Card बनाई जाएगी । इसके लिए लाभार्थी को अपना आधार कार्ड या मोबाइल नंबर जैसे विवरणों की मदद से digital Health मिशन कार्ड बन जाएगा |

यह कार्ड व्यक्ति चाहे तो अपनी स्वेच्छा से बनवा सकता है अन्यथा कोई जबरन नहीं है । व्यक्ति चाहे तो मना भी कर सकता है । डिजिटल हेल्थ कार्ड लगभग आधार कार्ड की तरह 14 अंक का होगा | इसमे सबसे खास बात होगा कि एक यूनिक क्यू आर कोड भी होगा |

क्या इस योजना से देश में स्वास्थ्य संबंधी नई क्रांति आएगी :

भारत सरकार का ऐसा मानना है कि नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन से देश भर में एक नई कांतियों आएगी क्योंकि इससे सभी नागरिकों का डाटा बैस तैयार हो जाएगा ।

भारत ऐसी डिजिटल व्यवस्था करने वाला दुनियां का कोई पहला देश नहीं है , बल्कि कई देशों में पहले से ऐसी व्यवस्था भारत से पहले अमेरिका , ब्रिटेन और दक्षिण कोरिया जैसे देशों में डिजिटल हेल्थ सुविधा मौजूद है ।

डिजिटल हेल्थ कार्ड जैसी योजना के पीछे एक भूमिका प्रधानमंत्री जन आरोग्य ( आयुष्मान भारत ) योजना की है । साल 2018 25 सितंबर को औपचारिक रूप से आयुष्मान भारत योजना को जब लागू किया गया तो यह उम्मीद जगी कि अब देश भर में गरीब , शोसित वंचित , उपेक्षित लोगों को बीमारियों के इलाज मे कोई समस्या नहीं आएगी ।

इस योजना की शुरुआत पहले अंडमान निकोबार , चंडीगढ़ , दादर – नगर हवेली , लाख दमन – दीव , लक्ष्यद्वीप में हुई थी यानि 6 केन्द्र शासित राज्यों में |

इस योजना से गरीब जनता को एक और सबसे बड़ी लाभ ये होगा कि इससे दवाई जाँच , टेस्ट के नाम पर निजी अस्पताल अनाप शनाप वसूलते हैं इस डिजिटल हेल्थ कार्ड से तमाम अनियमितताओ पर रोक लगेगी ।

NDHM apply online ndhm.gov.in registration :

इसके लाभ के लिए आवेदन (ndhm.gov.in login) करने से पहले आपके पास अपना आधार कार्ड या एक मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है । दोनों में से किसी एक का आप उपयोग करके आवेदन कर सकते है ।
इसके बाद आवेदक का नाम , आवेदक का पता तथा अन्य समान डेटा जैसी बुनियादी जानकारी प्रदान करनी होगी |

इसके बाद आवेदन प्रक्रिया –

  • सबसे पहले राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन ( National Digital Health mission ) की अधिकारिक वेबसाइट पर जाऐ ।
  • अब डिजिटल सिस्टम अनुभाग पर थोड़ा आगे यानि नीचे स्कॉल करें ।
  • उसके बाद आपको स्वास्थ्य आईडी ” अनुभाग दिखाई देगा , स्वास्थ्य आईडी बनाएं पर जाकर क्लिक करें |
  • क्लिक करने के बाद आप एक वेज से दूसरे पेज पर पहुंच जाते हैं , – वहां आपको एक बटन दिखाई देगा ” अपनी स्वास्थ्य आईडी अभी बनाएं । पर क्लिक करें |
  • अब आपके सामने एक और पेज खुलेगा जहां आपसे आपकी हेल्थ आईडी बनाने के लिए आपको कहा जाएगा । यहां आप आधार जानकारी दर्ज करके या मोबाइल नंबर दर्ज करके आप कर सकते हैं । अपना आप आधार या मोबाइल नंबर में से किसी एक विकल्प का उपयोग करें |
  • अब आप आधार या मोबाइल नंबर दर्ज करके Submit पर क्लिक करें ।
  • अब आपके रजिस्टर नंबट पर एक OTP प्राप्त होगा , आप इस OTP को को वहां दिए गए बॉक्स में इंटर कर Submit करें ।
  • अब आपकी डिजिटल हेल्थ आईडी बनकर तैयार हो जाएगी ।

NOTE- स्वास्थ्य आईडी कार्ड के लिए आधार का उपयोग करते वक्त आपके पास वो मोबाइल नंबर भी होना चाहिए जो आधार मे रजिस्ट्रर है ताकि आसानी से ओटीपी का सत्यापन किया जा सके।

और पढ़े :

Leave a Comment