Soil Health Card Scheme 2022 | मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना

Contents

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना क्या हैं (Soil Health Card)

भारत सरकार द्वारा देश के किसानों के लिए समय समय पर कल्याणकारी योजनाएं लाती रहती हैं | उन्हीं योजनाओं में से एक Soil Health Card योजना है। इस योजना के जरिये भारत के किसानों की खेती योग्य य भूमि को जाँचकर फसल उत्पादन में सहायता प्रदान की जाएगीं।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के तहत किसानों की मिट्टी को जाँचकर उनकी खेत की भूमि किस प्रकार का हैं उनमें कौन से अच्छे फसल हो सकते हैं यह सब बताने के बाद किसानों को स्वास्थ्य कार्ड दिया जाएगा |

केंद्र सरकार मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना को संचालित करती हैं और इसे 2015 में देश के किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए शुरू की गई थीं। इस योजना किसानों को प्रत्येक 3 साल के अंदर कार्ड दिया जाएगा |

किसानों को जो कार्ड प्रदान किया जाएगा वह उनके खेतों की जाँच करने के बाद दिया जाएगा जो 3 साल में एक बार होगा। केंद्र सरकार इस योजना के जरिये पूरे भारत में 3 साल के अंदर 14 करोड़ किसानों को उपलब्ध है यह कार्ड का लाभ देना |

इस कार्ड में आपको किसान के खेत से जुड़ी सभी जानकारिया बताई जाएगी | उस रिपोर्ट कार्ड में आपको उनकी खेत से जुड़ी समस्याओं का रिपोर्ट दिया जाएगा । देश के किसान भाई इस योजना का लाभ ले सकते है |

Soil Health Card Scheme 2022

योजना का नाममृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना
कब शुरूवर्ष 2015
उद्देशदेश के किसानों को लाभ देना
विभागकृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार
वेबसाइटsoilhealth.dac.gov.in

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का उद्देश्य क्या है

Soil Health Card योजना किसानों के सम्मान में शुरू किया गया है | इस योजना का उद्देश्य इस प्रकार है :

  • खेतिहर किसानों को उनके खेत की मिट्टी की जांच करके एक रिपोर्ट प्रदान की जाएगी |
  • इस योजना के जरिये भारत के किसानों को उनके खेत की भूमि की जाँच करके उन्हें एक रिपोर्ट दी जाएगी, जिसे मृदा स्वास्थ्य कार्ड कहते हैं।
  • इससे किसानों को उनके खेत के बारे में जानकारी मिलेगीं, कि उनका खेत किस फसल के लिए उपयुक्त हैं और उन्हें उस फसल को लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • इससे खेत की मिट्टी की गुणवत्ता के अनुसार फसल को लगाने से फसल की पैदावार भी अच्छी होगी जिससे किसानों को अच्छा मुनाफा भी होगा।
  • किसान अपने खेत में खाध के इस्तेमाल से मिट्टी के आधार एवं संतुलन को बढ़ावा देना है |
  • इससे किसानों को कम से कम कीमत में अधिक से अधिक पैदावार होगा। इस योजना को किसानों के हित को देखते हुए लागू की गई है।
  • इस योजना को वर्ष 2015 में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा लॉन्च किया गया।
  • इस योजना को केंद्र सरकार के व्दारा संचालित किया जाता है एवं इसका विभाग कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार है |
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना में कई परीक्षण एजेंसीयों को शामिल किया जाएगा | इस कार्ड को 3 साल मै एक बार जारी किया जाएगा।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना में कौन सी जानकारीयाँ उपलब्ध है

Soil Health Card योजना में जो जानकारिया उपलब्ध हैं वह नीचे दी गई हैं :

  • सोहेल फर्टिलिटी से जुड़ी जानकारी
  • फसलों में उर्वरको को कितना शामिल लिया जाए उसकी जानकारी
  • सलाइन या अल्काइन सॉइल से जुड़ी जानकारी
  • एकीकृत प्रबंधन पोषक तत्व पर सिफारिश

मृदा स्वारथ्य कार्ड योजना योजना में सरकार के द्वारा कौन सी एजेंसी हैं

Soil Health Card योजना में जिन एजेंसीयों को शामिल किया गया है उसकी सूची नीचे दी गई हैं :

  • निविदा के द्वारा निजी एवं आउट सोर्सिंग एजेंसी
  • मुद्रा परीक्षण प्रयोगशालाओं
  • साइंस कॉलेज
  • परीक्षण प्रयोगशाला

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का लाभ एवं विशेषताएं क्या हैं

  • Soil Health Card योजना को केन्द्र सरकार ने चालू किया है देश के किसानो के लिए |
  • इस योजना के द्वारा किसान अपने खेत की रिपोर्ट कार्ड जान सकते हैं |
  • इस योजना के जरिये किसान अपने खेत की पैदावार को बढ़ा सकते हैं |
  • इस योजना को वर्ष 2015 में लागू किया गया था |
  • इस योजना के माध्यम से किसानों को जो कार्ड दिया जाएगा, इससे उनको अपने ख़त की मिट्टी की गुणवत्ता के बारे पंजानकारी मिलेगा | जिसके अनुसार वह अपने खेत में फसल को लगाएंगे एवं अच्छी फसल होगीं |
  • इस योजना से किसानों को फसल का पैदावार भी अच्छी होगी जिससे उनकी आय में वृद्धि होगी |
  • इस योजना के जरिये किसानों को उनके खेत के बारे में जानकारी रिपोर्ट के द्वारा दी जाएगी |
  • किसानों को उनके खेत की जानकारी होगी जिससे वह उस तरह के फसल लगा पाएंगे जिससे उन्हें कम कीमत में अधिक पैदावार होगी |
  • इस योजना के जरिये जो कार्ड दिए जाएंगे, उनमें यह सुझाव भी दिया जाएगा कि आप अपने खेत में किस तरह की फसल का पैदावार करें |
  • आप किस फसल में कितने खाद मिट्टी के अंदर किस मात्रा में क्या चीज आदि के बारे में जानकारी दी जाएगी |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना में किस प्रकार का रिपोर्ट दी जाती है

Soil Health Card योजना में जो एजेंसियों के द्वारा रिपोर्ट दी जाती है वह नीचे दिया गया है :

  • मिट्टी की सेहत
  • खेत की उत्पादक क्षमता
  • पानी की मात्रा
  • अन्य उपस्थित पोषक तत्व
  • पोषक तत्व की मौजूदगी एवं पोषक तत्व की कमी
  • खेतों की गुणवत्ता सुधारने हेतु उचित दिशा निर्देशों को बताना

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का मुख्य तथ्य क्या दिया गया है

Soil Health Card योजना का मुख्य तथ्य इस प्रकार हैं जो नीचे दिया दिया गया है :

  • किसानों को मिट्टी का जाँच करके एजंसियों द्वारा सुझाव दिया जाएगा कि कौन सी फसल लगाया जाए |
  • सरकार के द्वारा Soil Health Card को देश के भीतर 14 करोड किसानो को यह कार्ड दिया जाएगा |
  • इस योजना के लिए भारत सरकार ने 568 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है |
  • मृदा स्वास्थ्य योजना का लाभ देश के हर किसान ले सकते हैं |
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड किसानों को 3 साल में एक बार दिया जाता है |
  • इन कार्ड में दिए गए निर्देशों को पढ़ कर किसान अपने खेत की उर्वरता मे सुधार ला सकते हैं। एवं पोषक तत्व का सही ढंग से उपयोग करके अपने उर्वरा शक्ति को बढ़ा सकते हैं |
  • केंद्र सरकार इस योजना में पहले चरण के लिए (साल 2016 से लेकर 2017 तक) मैं 1074 करोड़ कार्ड और दूसरे चरण मै 2017 से 2019 में 11.69 करोड़ कार्ड किसानों को दिए गए |
  • इस योजना के जरिये किसानों की अच्छी फसल पैदावार होगी, जिससे उनके आय में वृद्धि होगी |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना में एजेंसी कैसे काम करती हैं

  • किसान के खेत की मिट्टी का अधिकारी सबसे पहले सैंपल इकट्ठा करते हैं |
  • इककठे किये गए मिट्टी को जाँच के लिए लेबोरेटरी भेज दिया जाएगा |
  • वहाँ पर लेबोटरी संबंधित अधिकारी मिट्टी की जाँच करेंगे और उसका एक रिपोर्ट तैयार करेंगें |
  • रिपोर्ट में मिट्टी की गुणवत शक्ति का एक रिपोर्ट लिस्ट बनेगा |
  • यदि मिट्टी की गुणवत्ता शक्ति में किसी प्रकार की कमी हैं, तो उसको सुधारने के लिए एक रिपोर्ट दिया जाएगा |
  • उसके बाद इस रिपोर्ट को ऑनलाइन माध्यम से किसानों के नाम पर अपलोड किया जाएगा |
  • जिसके जरिये किसान अपने मिट्टी की रिपोर्ट की जानकारी जल्द देख सकें और इसकी जानकारी मोबाइल में एसएमएस के जरिये दिया जाएगा |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना में आवेदन का प्रोसेस (Soil Health Card Online Registration )

  • व्यक्ति को सर्वप्रथम मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर आना होगा |
  • soilhealth.dac.gov.in
  • वेबसाइट का होम पेज स्क्रीन पर खुल जाएगा | Login का विकल्प जो होम पेज पर दिया गया है उस पर क्लिक करना है |
  • सामने आपके स्क्रीन पर नया पेज ओपन हो जाएगा, वहाँ पर आप State को चुन कर continue पर क्लिक करना है |
  • लागिन पेज ओपन हो जाने के बाद Registration New user पर क्लिक कर देना है |
  • फॉर्म में सभी जानकारिया को सही से भरने के बाद सबमिट के बटन को क्लिक करे |
  • रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद आईडी और पासवर्ड डाल कर लोगिन करें |

मृदा स्वास्थ्य कार्ड को कैसे डाउनलोड किया जाता है (Soil Health Card Download)

अगर आप Soil Health Card योजना को डाउनलोड करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करें :

  • सबसे पहले व्यक्ति को मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा |
  • soilhealth.dac.gov.in
  • सामने वेबसाइट का होम पेज ओपन हो जाएगा। आप होम पेज पर Farmer corner मे Print Soil health card के विकल्प पर क्लिक करें |
  • उसके बाद आप अपने राज्य का चयन करे |
  • उसके बाद, जिला, गांव, किसान का नाम से जुड़ी जानकारी को भरना होगा | पूछी गई सभी जानकारी को अच्छे से भरने के बाद सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करें |
  • क्लिक हो जाने के बाद स्क्रीन पर आपके सामने मृदा स्वास्थ्य कार्ड ओपन हो जाएगा | जिसे आपको प्रिंट कर लेना है जो आपको आगे काम आएगा |
  • आप फॉर्म कॉर्नर के माध्यम से ट्रेक Your सैंपल पर क्लिक करने के बाद जानकारी जान सकते हैं।

Soil Health Card Scheme 2022 (FAQ)

Q : मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की ऑफिशियल वेबसाइट क्या है ?

Ans : soilhealth.dac.gov.in

Q : Soil Health Card Yojana Helpline Number ?

Ans : Helpline Number = 011-24305591, 24305948
helpdesk-soil[at]gov[dot]in

Leave a Comment