स्टैंड अप इंडिया योजना 2022 | Standup India Scheme ऑनलाइन आवेदन पंजीकरण

स्टैंड अप इंडिया योजना क्या है ?

स्टैंड अप इंडिया योजना विशेषरूप से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं सभी वर्ग की महिलाओं के लिए है। इस योजना के अन्तर्गत आने वाले सभी लोगों को प्रमुखता से आर्थिक सहयोग प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा स्टैंडअ अप इंडिया की शुरुआत कि गई।

इस योजना के तहत प्रत्येक बैंक शाखा में कम से कम एक SC/ST उद्यमी को और एक महिला उद्यमी को अपने स्वयं के उद्यम (व्यवसाय) को स्थापित करने में सक्षम बनाने के लिए सरकार द्वारा 10 लाख से लेकर 1 करोड़ रुपये के बीच का लोन देकर उन्हें सहायता परदान करती है।

स्टैंड अप इंडिया योजना का उद्देश्य :

इस योजना का मुख्य उद्देश्य है बैंक की प्रत्येक शाखा से कम से कम एक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति एवं एक महिला उद्यमी (व्यवसायी) द्वारा ग्रीनफील्ड परियोजना की स्थापना हेतु 10 लाख से 1 करोड़ रूपया तक के लोन की सुविधा मुहैया कराना यह उद्यम विनिर्माण सेवा या व्यापार के होंगे।

इस योजना के तहत लिए गए लोन (ऋण) को 7 साल मे लौटाना होता है। इसमें 18 महिने की मोरेटोरियम की अवधि रहती है । इस स्कीम की शुरूआत केन्द्र सरकार द्वारा वर्ष 2016 में किया गया था

स्टैंडअप इंडिया योजना

स्टैंड अप इंडिया योजना की विशेषता :

  • इस योजना के तहत कोई भी अनुसूचित जातिय/ अनुसूचित जनजाति एवं महिला उम्मीदवार 18 वर्ष आयु पूरी करने के बाद सरकार द्वारा दी जा रही लाभ का आसानी से फायदा उठा सकती है।
  • आवेदक का किसी भी बैंक में डिफॉल्ट का रिकॉड कदापि नहीं होना चाहिए।
  • वर्तमान समय में लागु ब्याज दर उस श्रेणी के लिए बैंक खुद निर्धारित करती है, जो कि MCLR +3%+ टेन्योर प्रीमियम से अधिक होगी।
  • लोन की समय अवधि अधिकतम 7 वर्ष है एवं मोरेटोरियम की अवधि 18 महिने है।
  • इस योजना के तहत ग्रीव फील्ड प्रोजेक्ट्स के लिए ऋण उपलब्ध केवल उन उद्यमियों के लिए किए जा रहे हैं जो पहली मेन्यूफैक्चरिंग या व्यापारिक क्षेत्रों में बिजनेस शुरू करना चाह रहे हैं।

स्टैंड अप इंडिया योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें( Online Registration Process) :

इस योजना के तहत सभी बैंक की ब्रांच से ऋण उत्पब्ध आसानी से हो रहा है लोन अप्लाई करने के लिए अपने नजदीकी बैंक ब्रांच में जाकर संम्पर्क कर सकते हैं।

यदि आप इस योजना के लाभ के लिए online आवेदन करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा उसके बाद आगे बताए गए स्टेप को फॉलो करना है :

  •  स्टैंडअप इंडिया योजना की अधिकारिक वेबसाइट www.standupmitra.in पर जाए |
  • अब आपको इसमे बाईं ओर नीचे की तरफ आपको ‘यू’ में एक एक्सेस लोन ‘सेगमेंट’ में तीन विकल्प दिखेंगे अब आपको इनमें ‘अप्लाई हेयर ‘डायरेक्टली एट बैंक ब्रांच’ एवं ‘थ्रू मोर लीड Diste manager शामिल होगा |
  • आपको अप्लाई हेयर पर क्लिक करना होगा क्लिक करने के बाद अब आपके सामने एक नई विंडो खुलेगी |
  • अब आपको यहां मांगी गई जानकारी सही सही भरनी है, आवेदक का नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, भरने के बाद अब आपको एक OTP (ओटीपी) जेनरेट करना होगा इसके बाद बताए गए निदेशों के अनुसार उसे ऋण (लोन) के आवेदन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी।

स्टैंड अप इंडिया योजना के लिए पात्रता (एलिजिविलिटी) :

इस योजना के लाभ के लिए आपको कई चिजों का ध्यान रखना होगा।

  1. अप्लाई करने वाला आवेदक / कारोबारी SC/ST या महिला होनी चाहिए।
  2. आवेदक का उम्र 18 वर्ष वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए |
  3. कारोबार ग्रीन फील्ड एरिया में होनी चाहिए |
  4. आवेदक किसी भी बैंक का डिफॉल्टर नही होना चाहिए।
  5.  जिस भी कारोबार के लिए आपको लोन (ऋण) चाहिए वो कारोबार सर्विस सेक्टर का हो या मैनुफैक्चरिंग सेक्टर का ही होना चाहिए |

स्टैंड अप इंडिया योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज :

  • पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस,पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड इनमें से कोई एक पहचान का आप इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • व्यवसाय का पता प्रमाण
  • पार्टनरशिप डीड
  • रेंट एग्रीमेंट यदि किराए पर
  • व्यावसायिक परिसर लिए हैं तो)
  • नवीनतम आयकर रिटर्न (ITRकॉपी)
  • प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से क्लीअरेस प्रमाण पत्र (जरूरत हो तो ही)
  • आवेदक का बैंक खाता विवरण
  • परियोजना रिपोर्ट (प्रोजेक्ट रिपोर्ट)
  • पिछले 3 साल की बैलेंस शीट

जैसा कि आप सभी को पता है स्टैंड अप इंडिया ने हमेशा से आर्थिक सशक्तीकरण को तेजी से बढ़ावा देने के लिए इस क्षेत्र में काम किया है और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न करने में काफी काम किया है।

यह योजना पूरे देश भर में स्थित 1.25 लाख बैंक शाखाओं के माध्यम से न्यूनतम 2.5 लाख उधारकर्ताओं को सीधे लाभ पहुंचाने के लिए काम कर रही है।

स्टैंड अप इंडिया योजना की समय अवधि:

स्टैंड अप इंडिया योजना की शुरुआत वर्ष 2016 में केन्द्र सरकार द्वारा कि गयी इसकी कार्य पद्धति को देखते हुए अब यह योजना को साल 2025 तक विस्तार कर दिया गया है।

इस योजना का लाभ कोई भी भारतीय नागरिक जो इस योजना के अन्तर्गत आता है वो आसानी से लोन के माध्यम से कर्ज लेकर अपना स्वयं का व्यवापार शुरू कर सकता है।

और पढ़े :

Leave a Comment